tभारतीय साहित्य के आकाश में एक ऐसा तारा था जिसने हिंदी और मैथिली भाषाओं के माध्यम से सामाजिक विषयों पर अपनी कविताएँ रची। उनका नाम था नागार्जुन। ext

नागार्जुन की कविताओं में एक विशेषता थी कि उनमें समाज की व्यापक परिधियों को छूने की कोशिश थी।

नागार्जुन की कविताओं में भारतीय संस्कृति और समाज की व्यापक झलक मिलती है।  

नागार्जुन - हिंदी और मैथिली साहित्य के अप्रतिम कवि, जिनकी कविताएँ आज भी हमें प्रेरणा देती हैं। 

नागार्जुन - हिंदी और मैथिली साहित्य के अप्रतिम कवि, जिनकी कविताएँ आज भी हमें प्रेरणा देती हैं।